News
Avtar Singh from punjab choose Jaggery making business

Avtar Singh from punjab choose Jaggery making business

विदेश छोड़कर गांव आए थे अवतार सिंह, आज गुड़ बनाकर कमा रहे हैं लाखों

आज हम आपको ऐसे इंसान की कहानी सुनाने वाले हैं, जिसके बारे में पूरा पठानकोट जानता है. दरअसल, हम आपको पठानकोट में गुड़ का बिजनेस करने वाले अवतार सिंह के बारे में बताने वाले हैं. आज एक तरफ जहां लोग पैसा कमाने के लिए गांव से नगर, नगर से महानगर और महानगर से विदेशों की तरफ भाग रहे हैं, वहीं अवतार सिंह उन चुनिंदा लोगों में से हैं, जो विदेश छोड़कर गांव आए.

स्मार्ट खेती की बदौलत शुरू किया काम

अवतार सिंह विदेश से सिर्फ गांव ही नहीं आए, बल्कि यहां उन्होंने वो कर दिखाया जो आम तौर पर कोई करने की सोचता भी नहीं. स्मार्ट खेती की बदौलत उन्होंने गुड़ बनाने का काम शुरू किया, जो आज काफी फल-फूल रहा है. उनके द्वारा बनाए गए गुड़ की मांग बाकि राज्यों में भी खूब हो रही है.

शुरू में आई परेशानी

हर काम को शुरू करने में थोड़ी परेशानी तो आती ही है. अवतार सिंह कहते हैं, कि विदेश छोड़कर गांव में आने पर लोगों का रिएक्शन अजीब था. लोगों को समझ नहीं आता था कि इतनी अच्छी नौकरी छोड़कर वापस आने का क्या मतलब है. शुरू में कुछ अभाव पैसों का भी रहा, लेकिन धीरे-धीरे काम जमने लगा और पैसे आने शुरू हो गए.

प्रयोग के तौर पर शुरू किया था काम

आज से कई साल पहले अवतार सिंह ने कृषि विभाग द्वारा आयोजित कैंप में गुड़ बनाने का काम सीखा था. इस काम को पहले उन्होंने प्रयोग के तौर पर ही किया, लेकिन फिर धीरे-धीरे सफलता मिलने लगी और आज उनके गुड़ से कई लोगों का रोजगार चल रहा है.

कृषि कैंपों में जाने का हुआ लाभ

अवतार सिंह बताते हैं कि वैसे तो सबसे अच्छे किस्म के गुड़ पंजाब में ही बनाए जाते हैं, लेकिन फिर भी कृषि कैंपों में जाकर बहुत कुछ नया सीखने को मिला है. गुड़ को चीनी का विकल्प बनाया जा सकता है, इस बात की इतनी गहरी जानकारी उन्हें कृषि कैंपों में जाकर ही पता लगी. वो कहते हैं कि सरकार द्वारा लगाए जा रहे कैंपों में हर किसी को जाना चाहिए.

गन्ना किसानों से करें सौदा

वो कहते हैं कि गुड़ का व्यापार कोई भी आदमी कम खर्च में कर सकता है, क्योंकि इसके लिए आवश्यक कच्ची सामग्री आराम से मिल सकती है. इसको बनाने में कच्चे माल के रूप में गन्ने का उपयोग होता है, जो पंजाब में खूब मिलता है. देश के बाकि हिस्सों में भी गन्ने की खेती होती है, जहां से खरीददारी की जा सकती है. अगर कोई इस तरह का बिजनेस करना चाहता है, तो सबसे आसान है सीधा गन्नाकिसानों से संपर्क करें.

मंडी का रास्ता भी है खुला

अगर गन्ना किसानों से संपर्क नहीं हो पा रहा, तो लोग गन्ने की मंडी भी जा सकते हैं. गन्ने कीकीमत कम या अधिक होती रहती है. इसका मूल्य विभिन्न राज्यों में नाना प्रकार की होने वाली चीजों पर निर्भर है.

कई लोगों को मिल रहा है रोजगार

इस समय अवतार सिंह के गुड़ की वजह से कई लोगों को रोजगार मिल रहा है, जिसमें प्रमुख है गन्ना किसान, ट्रांसपोर्टके आदमी, मजदूर आदि हैं.

शुद्धता का होना जरूरी

अवतार सिंह मानते हैं कि किसी भी उत्पाद में शुद्धता का होना बहुत जरूरी है, अगर आपके द्वारा बनाया गया सामान मिलावटी या खराब है तौ आपका व्यापार बहुत अधिक दिन तक नहीं चल सकता.शुद्ध उत्पाद बेचने में लागत अधिक आती है, शुरूआत में मुश्किलें अधिक होती है, कई बार ग्राहक भी नहीं मिलते, लेकिन अंत में सब अच्छा ही होता है. लोग शुद्धता को पसंद करते हैं.

अच्छी मार्केटिंग की समझ जरूरी

किसी भी बिजनेस की सफलता का राज उसकी अच्छी मार्केटिंग है. अवतार सिंह कहते हैं कि गुड़ व्यापार में भी इस बात का ख्याल रखा जाना चाहिए. विदेशी गुड़ ऊंचे दामों पर इसलिए बिकते हैं, क्योंकि उनकी मार्केटिंग अच्छी होती है, हमारे यहां के गुड़ उच्च गुणवत्ता के होने के बाद भी सस्ते दरों पर बिकते हैं.

धैर्य का होना जरूरी

गुड़ बनाने का काम मुनाफे का है, लेकिन इसको वही कर सकता है, जिसमें धैर्य हो. इस काम में उतार-चढ़ाव आम है. अवतार सिंह के मुताबिक गुड़ की मांग मौसमी कारको पर बहुत अधिक निर्भर करती है, ऐसे में खराब समय आने पर अचानक हिम्मत हार जाना सबकुछ खराब कर सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X