Honey Man Sanjay Kumar from Bihar

मधुमक्खीपालन

मधुमक्खी पालन कर संजय कुमार बनें हनी मैन, कमा रहे हैं लाखों रुपए,जानिए इनकी सफलता की कहानी

आज आपको एक ऐसे सफल किसान संजय कुमार चौधरी से रूबरू करवाने जा रहा हैं. जिन्होंने 20 बॉक्स से मधुमक्खी पालन की शुरुआत कर राज्य स्तर पर एक बड़ी पहचान बनाई है. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि देशभर के प्रगतिशील किसानों को अपनी बात और उत्पादों की बारे में जानकारी देने का मौका दिया जा रहा है. ऐसे में आइये संजय की सफलता का राज जानते हैं-

संजय ने मधुमक्खी पालन की शुरुआत 20 बॉक्स से की थी, जोकि धीरे -धीरे बढ़कर अब पूरे बिहार की डीलरशिप प्राप्त कर चुके हैं. अभी तक कई किसान इनके साथ जुड़कर मधुमक्खी पालन करना सीख चुके हैं. संजय के मुताबिक, अगस्त माह से आप मधुमक्खी पालन की शुरुआत कर सकते हैं. मधुमक्खी पालन की शुरुआत न्यूनतम आप 20 बॉक्स से कर सकते हैं. इसके लिए बिहार सरकार आपको अनुदान प्रदान करती है. एक बॉक्स पर सरकार जनरल श्रेणी के लोगों को 3 हजार रुपए सब्सिडी देती है और SC/ST श्रेणी वालों को 3600 रुपए सब्सिडी देती है. इस रोजगार को शुरू करने में बहुत कम निवेश की जरूरत पड़ती है. इसे आप साइड बिजनेस के तौर पर भी कर सकते हैं.

इस व्यवसाय को शुरू कर आप अपनी आर्थिक स्थिति के साथ -साथ अपने शरीर को भी स्वस्थ रख सकते हैं. क्योंकि प्राकृतिक शहद शरीर के लिए काफी अच्छा माना जाता है. शहद की बिक्री कर आप विदेशी मुद्रा भी अपने राजकोष में ला सकते हैं ताकि राज्य व देश का नाम आगे उच्चा हो. पहले शहद उत्पादन में बिहार का रैंक सबसे नीचे था.अब सरकार और किसानों की मेहनत के बल पर आज पूरे भारत में बिहार का दूसरा स्थान है. शहद उत्पादन में इस व्यवसाय को शुरू करने में महज 6 दिन का प्रशिक्षण ही काफी है. मधुमक्खियों से कई तरह के पदार्थ प्राप्त होते हैं जैसे-रॉयल जेली, मोम,शहद और मधुमक्खी का डंक आदि ये सारी चीजें हमारे लिए बहुत उपयोगी हैं. मधुमक्खी पालन की सबसे अच्छी बात ये है कि जहां मधुमक्खी पालन किया जाता है वहां फसल में 20 फीसद की वृद्धि हो जाती है. अगर आप 20 बॉक्स का पालन कर रहे हैं तो सालाना आपका इनकम 50 से 60 हजार रुपए होगा और अगर 50 बॉक्स का पालन करते हैं तो उसका आप सालाना लगभग 2 लाख रुपए तक कमा सकते हैं.

Honey Man Sanjay Kumar from Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top