Millions of profits in melon by farmer Shyam Pawar

तरबूज की खेती

लाल नहीं पीले रंग के पाइनएप्पल फ्लेवर वाले तरबूज में लाखों का मुनाफा: प्रगतिशील किसान श्याम पवार

कोरोना वायरस के चलते लगे लॉकडाउन की वजह से घरों में कैद हैं. इस बार का गर्मी का मौसम लॉकडाउन में ही बीत रहा है. गर्मियों के मौसम में लोग खरबूज, तरबूज, ककड़ी और खीरा जैसे ठंडक देने वाले फल और सब्जी का सेवन करते हैं. लेकिन इस बार तरबूज का एक अलग फ्लेवर मिलने वाला है. आमतौर पर तरबूज काटने के बाद लाल रंग का होता है और उसका स्वाद मीठा होता है लेकिन इस बार मध्यप्रदेश के बैतूल जिले के किसानों ने विशेष तरह का तरबूज उगाया है जो काटने के बाद अंदर से पीले रंग का होता है. इसका स्वाद मीठा होने के साथ-साथ थोड़ा पाइनएप्पल के फ्लेवर का है.

बता दें, मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के एक प्रगतिशील किसान श्याम पवार ने तरबूज की किस्म तैयार की है, जो अन्य तरबूज की तुलना में भिन्न है. उनके द्वारा उगाये गए तरबूज की पहली किस्म लाल और अत्याधिक मिठास वाली है और वहीं दूसरी पीली और पाइनएप्पल के स्वाद की मिठास वाली है.

बता दें कि मध्य प्रदेश के प्रगतिशील किसान श्याम पवार पिछले वर्ष से ही इस प्रजाति के तरबूज की बुवाई कर रहें हैं जो तरबूज की अन्य प्रजातियों से अलग है. उन्होंने इस बार 5 एकड़ के जमीन पर तरबूज उगाया है जो स्वाद में अन्नानास के जैसा स्वाद होता है. उनका मानना है अब इस प्रकार के तरबूज की मांग बाजार में बढ़ती जा रही है.

उनके द्वारा तैयार की गई तरबूज की फसल बाजार में आने के बाद चर्चा का विषय बन गई है. हर कोई उसकी खरीद करने को तैयार है क्योंकि इसका स्वाद बेहद अलग है. किसान श्याम पवार कहते हैं कि उन्होंने दूसरे साल तरबूज की खेती की है. इस बार उन्होंने तरबूज की तीन किस्म की खेती की है जिसमें आरोही, सरस्वती और मेलोडी शामिल हैं.

Millions of profits in melon by farmer Shyam Pawar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to top