योगेन्द्र कौशिक

Yogendra Kaushik

लोग कहते हैं बेटी को मार डालोगे,तो बहू कहाँ से पाओगे? जरा सोचो किसान को मार डालोगे, तो रोटी कहाँ से लाओगे? कितने अजब रंग समेटे हैं, ये बेमौसम बारिश खुद में, अमीर पकौड़े खाने की सोच रहा हैं तो किसान जहर…